मरने के बाद भी जरूरी है आधार कार्ड, नहीं होगा अंतिम संस्कार

0
14

जिंदगी के हर क्षेत्र में आधार कार्ड जरुरी हो गया है, चाहे वो मोबाइल फोन, रसोई गैस, बैंक या फिर सरकारी कोई कागजात हो। इन सबके बाद व्यक्ति को अब मरने के बाद भी आधार कार्ड की जरूरत होगी। जीं हां, फरीदाबाद में व्यक्ति के मरने के बाद शमशान में आधार कार्ड जरूरी हो गया है। फरीदाबाद के नहरपार क्षेत्र मवई रोड पर बना हुआ स्वर्ग आश्रम जिसमें एक, दो नहीं पूरे तीन बोर्ड लगे हुए हैं जिन पर बड़े-बड़े अक्षरों में लिख दिया गया है कि मृतक का आधार कार्ड लाना जरूरी है नहीं तो अंतिम संस्कार नहीं होगा।

इस बारे में जब मौजूदा लोगों से बात की गई तो उन्होंने कहा कि सरकार के जिस विभाग ने भी ऐसा तुगलकी फरमान जारी किया ये गलत है। लोगों की माने तो जिस घर में मौत होती है वह घर शोक में डूबा होता है ऐसे में कागजात प्रक्रिया कौन पूरी करे। इतना ही नहीं जिन बुजुर्ग लोगों का फिंगर प्रिंट नहीं मैच हो रहे हैं आंखों की रोशनी टूट चुकी है उनका आधार कार्ड न होने पर अंतिम संस्कार कैसे होगा। बालकिशन ने बताया कि कुछ दिन पहले शमशान में आधार कार्ड न लाने पर कई घंटों तक अंतिम संस्कार की प्रक्रिया को रोक दिया गया था जो कि गलत है।

वहीं स्वर्ग आश्रम के कर्मचारी मनोज की माने तो शमशान में मृतक को लाने से पहले आधार कार्ड या फिर कोई भी पहचान पत्र लाना जरूरी ही है। कुछ लोग नाम पता गलत लिखवा देते हैं जिसके चलते उन लोगों को नगर निगम और स्वर्ग आश्रम के चक्कर काटने पड़ते हैं। जिससे उनको भी परेशानी होती है इसलिए सही नाम पता लिखने के लिए पहचान पत्र लाना अनिवार्य ही है।

नगर निगम महापौर सुमन बाला से बात की गई तो उन्होंने कहा कि निगम की ओर से ऐसा कोई भी आदेश जारी नहीं हुआ है जिसके चलते शमशान में मृतक का आधार कार्ड जरूरी हो। स्वर्ग आश्रम कमेटी ने खुद ही नगर निगम का नाम प्रयोग किया है जिसकी जांच की जाएगी और बोर्ड को तुरंत हटा दिया जाएगा। वहीं उन्होंने कहा कि अगर भविष्य में ऐसा होता है तो लोगों की सभी बातों और जरूरतों का ध्यान रखा जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here