सूर्यास्त और सूर्योदय के समय किसी को ना दें चीजें, वरना दरिद्र बन जाओगे

0
96

मान्यताओं के अनुसार, दान करना हमेशा से पुण्य का काम माना गया है। लेकिन कुछ चीजें ऐसी भी हैं जिनका सूर्यास्त के समय दान देना आप पर ही भारी पड़ सकता है। इससे आपकी आर्थिक स्थिति भी कमजोरी होती है।

सूर्यास्त के समय
यदि आपको अपने घर की बरकत को कायम रखना है तो आपको इन चीजों के बारे में जरूर जानना चाहिए। चलिए जानते हैं आखिर क्या हैं वह चीजें जिनका सूर्यास्त के समय दान करना मनाही है…

इन्हें दान देने से बचें 
शाम के समय प्याज-लहसुन देने से बचें, इनका संबंध केतु ग्रह से माना गया है। केतु ग्रह को ऊपरी ताकतों का स्वामी माना गया है। साथ ही इन सबका संबंध जादू-टोना से भी है। इसलिए प्याज-लहसुन देना अच्छा शगुन नहीं माना गया है।

इस समय ना दें किसी को धन 
शाम के समय लोग घर का मुख्य द्वार खोलकर रखते हैं। दरअसल माना जाता है कि इस समय घर में लक्ष्मीजी का आगमन होता है। ऐसे में धन किसी और को देना लक्ष्मी को विदा करना माना जाता है।

यह दान करने से गुरु होता है कमजोर 
लाल किताब के अनुसार, जिनका गुरु बलवान और शुभ है उन्हें गुरुवार के दिन किसी को भी हल्दी नहीं देना चाहिए, खासतौर पर शाम के समय। इस दिन हल्दी देने से गुरु कमजोर होता है, साथ ही धन और वैभव में कमी आती है।

ना करें इस चीज का दान 
पुराणों के अनुसार, दूध का संबंध लक्ष्मी और विष्णु से माना जाता रहा है। यही कारण है कि सांयकाल में इसे किसी को देना अच्छा नहीं माना जाता है। मान्यता है कि इससे बरकत चली जाती है। घर में सुख-शांति के लिए सांयकाल में दूध का दान ना करें।

धन की होती है कमी 
ज्‍योतिष के अनुसार माना जाता है कि दही का संबंध शुक्र से माना गया है। वहीं शुक्र को सुख और वैभव का कारक माना गया है। इसलिए सूर्यास्त के समय इसे किसी को इसे देने से सुख और वैभव में कमी आ जाती है।

सूर्योदय के समय

सूर्योदय के समय जब दुनिया ॐ सूर्याय नमः का जाप कर रहा हो तब कुछ ऐसे काम होते है जो नही करना चाहिए वरना घर में गरीबी, पनौती और दरिद्री आती है.

सूर्योदय के समय को हिंदू धर्म ग्रंथों में ईश्वर की आराधना का समय माना गया है.

इस वक्त ध्यान व पूजन करने से अनेक फायदे होते हैं पर कभी कभी अनजाने में हमसे ऐसे काम हो जाते है जिनसे नुकसान होता है.

तो चलिए हम आपको बताते है की सूर्योदय के समय ऐसा क्या करे जो आपको तकलीफ में दाल सकता है.

खाना  खाएं 

किसी वजह से रात जगना पड़ता है और सुबह होते ही भूख लग जाती है. ऐसे में याद रखे सूर्योदय के बाद ही कुछ खाएं, वरना आपका पेट खराब हो सकता है साथ ही घर में रोग और दरिद्रता आजाते है.

सोते ना रहे

इस दौड़ती भागती ज़िंदगी में अक्सर लोग सूर्योदय के समय सोते हुए पाये जाते है, जिससे काफी नुकसान होता है. विशेषज्ञों की माने तो ऐसे मे सूर्योदय के समय अगर आप सो रहे है तो आपकी पाचनक्रिया खराब होनी लाज़मी है. इसके साथ इससे घर में गरीबी छा जाती है.

सफाई  करे 

सूर्योदय के समय किसी भी तरह की साफ़ सफाई ना करे, इससे स्वास्थ को गहरा नुकसान पहुंचता है. धार्मिक मान्यता के अनुसार सूर्योदय के समय घर में झाड़ू लगाने से लक्ष्मी रूठ जाती है और दरिद्रता का राज होता है.

तुलसी का पत्ता ना तोड़ें 

आमतौर पर लोग पूजापाठ के बाद तुलसी का पत्ता तोड़कर प्रसाद के रूप में ग्रहण करते है. ऐसा ना करे धार्मिक परम्परा के मुताबिक सूर्योदय के समय तुलसी जी पर जल चढ़ाएं. अच्छी खबर सुनने को मिलेगी और स्वास्थ भी ठीक रहेगा.

निरोगी और खुशहाल ज़िंदगी जीने के लिए ज़रूरी है तड़के सुबह उठ जाना. रोज़ाना 40 मिनट चले. नहाधोकर रहने ईश्वर की आराधना करें. सूर्योदय के समय ॐ सूर्याय नमः का जाप जपें. सूर्य देवता को देखते हुए उन्हें जल चढ़ाएं. याद रखे सूर्योदय का समय सुबह 5.30 से 6.30 तक का होता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here