कारोबारी पिता ने मारा थप्पड़ तो तो बेटे ने ही करा दी पिता की हत्या

0
36

दिल्ली में एक पिता ने अपने 37 वर्षीये बेटे को थप्पड़ मारा तो बेटे ने उनका खून कर दिया. लेकिन मामला सिर्फ इतना नहीं था. दरअसल वो बेटा अपने पिता की संपत्ति की हथियाना चाहता था. घटना मई के पहले हफ्ते की है. 37 साल का गौरव खेड़ा नाम का शख्स क्रिकेट मेच में बेटिंग के दौरान काफी पैसे हार गया. वो मदद के लिए अपने पिता के पास गया. लेकिन पिता ने गुस्से में आकर उसे थप्पड़ मार दिया. इसके बाद ही गौरव ने पिता को मारने का प्लान बना लिया था.

21 मई को दो बाइक सवारों ने अनिल की हत्या कर दी. उस समय वह दिल्ली से सटे गाजियाबाद में एक बिजनेस मीटिंग करने जा रहे थे.

पांच महीनों तक इस केस की जांच करने बाद दिल्ली पुलिस ने आखिरकार केस को सुलझा लिया है. इस मामले में पुलिस की क्राइम ब्रांच ने गौरव के साथ उसके 23 साल के दोस्त विशाल गर्ग को गिरफ्तार कर लिया है. इसके अलावा दो बाइक सवारों में से सादिक नाम के एक शूटर को भी गिरफ्तार कर लिया है.

टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक एडिशनल कमिश्नर अजीत सिंगला ने बताया कि गौरव ने अपने पिता को मारने के लिए दो लोगों को सुपारी दी थी. ये दो लोग शमशेर और सादिक थे. गौरव ने इन दोनों को 5 लाख रुपए देने का वादा भी किया था. वहीं उसने अपने दोस्त विशाल गर्ग से वादा किया कि उसके पिता के मरने के बाद वह अपने पिता के केमिकल बिजनेस में से 25 फीसदी उसे देगा.

बेटे ने क्यों की हत्या

पुलिस के मुताबिक गौरव बुरी आदतों का आदी है. वह पिता के पैसे से जुआ और सट्टा खेलता था, लेकिन पिता को जैसे ही बेटे की बुरी आदतों के बारे में पता चला उन्होंने पैसे देने बंद कर दिए. पुलिस ने बताया कि एक दिन झगड़े में पिता अनिल खेड़ा ने गौरव को थप्पड़ मार दिया. इसके बाद गौरव ने पिता की हत्या करवाने की ठान ली.

ऐसे रची साजिश

गौरव ने अपने दोस्त विशाल गर्ग को पिता के कारोबार में 25 प्रतिशत हिस्सा देने का वादा कर 2 सुपारी किलर हायर करने के लिए कहा. विशाल ने शमशेर और सद्दाम को 5 लाख रुपये में हायर किया और हत्या को अंजाम दे दिया. वायदे के मुताबिक 5 लाख रुपये शमशेर को दिए गए लेकिन उसने सुपारी किलर सादिक को 50 हज़ार रुपये ही दिए. इसी बात को लेकर गौरव और सादिक में झगड़ा चल रहा था. इसकी जानकारी क्राइम ब्रांच को लगी और आरोपी पकड़े गए. फिलहाल, पुलिस शमशेर की तलाश कर रही है.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here