अर्थशास्त्र क्षेत्र में विलियम नोर्डहॉस, पॉल रोमर को मिला था नोबेल पुरस्कार

0
80

जलवायु परिवर्तन और आर्थिक विकास पर खोज के लिए रॉयल स्वीडिश एकेडमी ऑफ इकोनॉमिक्स ने विलियम द नोर्डहॉस और पॉल एम. रोमर को 2018 का अर्थशास्त्र का नोबेल सम्मान देने की घोषणा की

इकोनॉमिक्स के क्षेत्र में दुनिया के सबसे प्रतिष्ठित नोबेल पुरस्कारों की घोषणा कर दी गई है. रॉयल स्वीडिश एकेडमी ऑफ इकोनॉमिक्स ने सोमवार को जलवायु परिवर्तन और आर्थिक विकास पर खोज के लिए विलियम द नोर्डहॉस और पॉल एम. रोमर को 2018 का अर्थशास्त्र का नोबेल सम्मान देने की घोषणा की.

पिछले साल इकोनॉमिक्स का नोबल पुरस्कार रिचर्ड एच थेलर को मिला था. उन्हें यह पुरस्कार बिहेवियरल इकोनॉमिक्स में उनके योगदान के लिए दिया गया था.

विलियम नोर्डहॉस येल यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर हैं. उन्होंने अपनी ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन (पीजी) येल यूनिवर्सिटी से ही की है. उन्होंने प्रतिष्ठित मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलजी (एमआईटी) से अपनी पीएचडी पूरी की है.

इन दोनों विजेता अमेरिकी अर्थशास्त्रियों (विलियम द नोर्डहॉस और पॉल एम. रोमर) को पुरस्कार राशि के तौर पर 90 लाख स्वीडिश क्रोनर (लगभग 7.35 करोड़ रुपए) मिलेंगे. उन्हें 10 दिसंबर को स्टॉकहोम में किंग कार्ल XVI गुस्ताफ के हाथों एक औपचारिक कार्यक्रम में यह इनाम मिलेगा. नोबेल पुरस्कारों की शुरुआत करने वाले एलफ्रेड नोबेल की बरसी के दिन इस कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है.

बता दें कि इस बार साहित्य का नोबेल पुरस्कार नहीं दिए जाने का फैसला किया गया है. बीते 70 वर्षों में ऐसा पहली बार है जब साहित्य का नोबेल पुरस्कार नहीं दिया जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here